in

Cute


कभी बॉलीवुड अभिनेत्री थीं अब नौकरी करने को मज़बूर है, जाने पूरी कहानी !

नसीब का सिक्का जब तक चलता हैं इंसान आसमान की बुलंदियों पर होता हैं लेकिन जिंदगी जब करवट लेती हैं तब सब कुछ बदल जाता हैं | कुछ ऐसी ही कहानी हैं बॉलीवुड में काम कर चुकी ‘मयूरी कांगो’ जिन्हे ‘पापा कहते हैं’ में देखा गया था | लेकिन कुछ फिल्में और टीवी सीरियल में काम करने के बाद वो परदे से गायब हो गयी |

औरंगाबाद के सेंट फ्रांसिस दी सेल्स स्कूल से पढ़ाई करने के बाद वो मुंबई अपनी माँ से मिलने आयी थीं और उसी दौरान उन्हें निर्देशक सईद अख्तर मिर्ज़ा ने अपनी फिल्म ‘नसीम’ में काम करने का मौका दिया जिसे देखने के बाद महेश भट्ट भी काफी प्रभावित हुए और उन्हें ‘पापा कहते हैं’ के लिए साइन कर दिया |

मयूरी ने उस वक्त कुर्बान, कश्मीर हमारा हैं, जीतेंगे हम, वामसी,शिकारी, श्रद्धा, जुंग, पापा दी ग्रेट,बादल, मेरे अपने,होगी प्यार की जीत, राम रतन धन पायों और बेताबी जैसी फिल्मों में काम किया | आखिरी बार वह साल २००९ की फिल्म वामसी में दिखाई पडी थीं |

मयूरी कांगो ने टेलीविज़न के क्या हादसा क्या हकीकत,करिश्मा, कुसुम,किटी पार्टी, डॉलर बहु, थोड़ा गम थोड़ा ख़ुशी और नरगिस में काम किया था | मयूरी ने ‘कुछ तुम कहो कुछ हम कहें’ नाम के थिएटर में भी काम किया था |

साल २००३ में उन्होंने आदित्य ढिल्लों से शादी कर ली और अब उनका एक लड़का भी हैं लेकिन अमेरिका से ही मार्केटिंग और फाइनेंस में ऍम.बी.ऐ करने के बाद वो वह बैंक में जॉब करने लगी |

लेकिन रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिका से वापस आने के बाद मयूरी कांगो ने गुरुग्राम की एक कंपनी में मैनेजिंग डायरेक्टर की पोस्ट पर काम करना शुरु किया है।

What do you think?

अक्षय कुमार के साथ काम कर चुकी हैं दिव्या भारती की यह बोल्ड बहन !

Remember The Sweet ‘Jiya Dhadak Dhadak’ Girl? Here’s How She Has Changed In These Years!